पशुओं का दूध एवं इनका सेवन करने के स्वास्थ्य लाभ

दूध विभिन्न पशुओं द्वारा दिया जाता है जिसे मनुष्य अपने उपयोग में लाता है। भिन्न-भिन्न पालतू पशुओं के दूध भी भिन्न-भिन्न गुण रखते हैं। रोगोपचार अथवा उनके उपयोग के लिए उनके गुणों का ज्ञान होना अत्यंत आवश्यक है।

गाय का दूध

  • गाय का दूध मनुष्य के लिए माता के दूध के समान है।
  • यह बल-वीर्य और पुष्टिकारक है।
  • गाय का दूध मेधा शक्ति को निखारता है। यह आयुवर्द्धक है।
  • यह हृदय रोगियों के लिए लाभदायक है। जानिए – हार्ट अटैक के लक्षण
  • यह पित्त नाशक है।
  • यह दूध कफज है परंतु पिप्पली युक्त गरम दूध कफ-नाश करता है।
  • गाय का दूध नेत्रों के लिए ज्योतिवर्द्धक है।
  • गाय का दूध पौरुष में वृद्धि करता हैं और संतानोत्पत्ति का श्रेष्ठ उपचार है।
  • गाय का दूध मल-दूषण दूर करता है।
  • गाय का दूध यौवन को स्थायित्व, बचपन का विकास और बुढ़ापा दूर रखता है |
  • गाय का घी समस्त प्रकार के विष विकारों को नष्ट करने में सक्षम है।
  • यह अमृतोपम है।
  • हल्का, मिठास युक्त और तिक्तता मिश्रित होता है। ठंडा होता है। सुपाच्य होता है । अपेक्षाकृत कम पुष्टि प्रदायक है। कफ नाशक है। रक्त विकार जैसे की उच्च रक्तचाप के उपचार और संक्रामक रोगों में लाभकारी है। यह दूध स्वयं ही एक औषधि है।

बकरी का दूध

  • बकरी का दूध हल्का , मिठास युक्त और तिक्तता मिश्रित होता है ।
  • बकरी का दूध ठंडा होता है । सुपाच्य होता है ।
  • यह अपेक्षाकृत कम पुष्टि प्रदायक है । कफ नाशक है ।
  • यह रक्त विकार और संक्रामक रोगों में लाभकारी है ।
  • यह दूध स्वयं ही एक औषधि है ।
  • यह विशेष गंधयुक्त होता है, इसी कारण उबालकर पीने योग्य है।

भेड़ का दूध

  • यह नमकयुक्त मिठास लिए होता है।
  • वात रोगों का नाशक है।
  • उत्तेजना बढ़ाने और कामवृद्धि करने वाला है।
  • हृदय रोगियों के लिए इसका प्रयोग वर्जित है।
  • यह कफज और पित्तज है।
  • मधुमेह के उपचार और पथरी जैसे रोगों में लाभदायी है।
  • भेड़ का दूध उष्ण होता है तथा चोट में हितकारी है।

भैंस का दूध

  • यह दूध अधिकतर उपयोग में लाया जाता है।
  • यह मधुर रस युक्त होता है।
  • यह अधिक चिकनाई युक्त होता है, अतः मोटापा बढ़ाने में उपयोगी है
  • नेत्रों के लिए हानिकारक है
  • अनिद्रा दूर करने में श्रेष्ठ है।
  • सोने से पूर्व इसे पीने पर अच्छी नींद आती है।
  • यह भारी होता है।
  • यह वीर्यवर्द्धक और कामशक्ति वर्द्धक होता है।
  • स्फूर्ति नाशक है।
  • शक्तिदायक है।

घोड़ी का दूध

  • यह खटास युक्त लवण रस लिए होता है।
  • गुण में हल्का है।
  • यह सुपाच्य है।
  • बल-वीर्य बढ़ाने वाला हैं |
  • पुष्टि और स्फूर्ति बढ़ाने वाला है।
  • श्वास रोगों में अत्यधिक लाभदायी है।
  • वात रोग नाशक है |
  • शोथ दूर करने में उपयोगी है।
  • पौरुष वर्द्धक है और नपुंसकता दूर करने में उपयोगी है।