सूखा नारियल, नारियल पानी और नारियल तेल के फायदे

कच्चे एवं सूखे नारियल के फायदे

घुटने का दर्द –

सूखा नारियल 50 ग्राम नित्य खायें। घटनों पर नारियल के तेल की जोर, दबाव देते हुए नित्य 5 मिनट मालिश करें। मालिश धूप मे बैठ कर, रात को सोते समय भी करने से अधिक लाभ होगा । चमड़ी नारियल का तेल सोखती है। अत: देर तक मालिश करते रहे |

जिससे तेल चमड़ी के अन्दर जाते हुए गहराई तक प्रभाव डालें । जहाँ दर्द अधिक हो, वहाँ मालिश अधिक करें| ऐसा करने से से घुटनों के दर्द में शीघ्र आराम मिलता है । साथ ही नारियल खायें, इसका पानी भी पी राकते हैं। यह प्रयोग बहुत से रोगियों पर करके इसे सफल रहा है। नारियल का तेल खाना पकाने के काम में लिया जाता है।

पढ़िए – अखरोट खाने के क्या फायदे हैं

नारियल का शुद्ध तेल कच्चा बिना गर्म किया हुआ नित्य दो-चार चम्मच पियें। पाचनशक्ति बढ़ती है। मोटापा कम होता है। यह थायरॉयड को ठीक करता है। भौतिक एवं रासायनिक दृष्टि से नारियल का तेल मक्खन से बहुत कुछ मिलता-जुलता है। नारियल में उच्चकोटि का प्रोटीन होता है। इसमें सभी एमिनो अम्ल मिलते हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से नारियल टॉनिक है।

प्यास अधिक –

बार-बार पानी पीने से भी प्यास नहीं बुझती हो तो नारियल का पानी पिलाने से प्यास शान्त हो जाती है। बार-बार पानी नहीं पीना पड़ता। नारियल कच्चा और सूखा दो प्रकार का मिलता है। कच्चा नारियल गर्मी में खाया जाता है। कच्चे नारियल में पानी निकलता है जिसे डाब का पानी भी कहते हैं। कच्चा नारियल खाने से गर्मी नष्ट होकर ठण्डक मिलती है। सूखा नारियल गर्मी देता है! इसे सर्दी के मौसम में खाते हैं। नारियल को ‘श्रीफल’ भी कहते हैं। नारियल को भोजन के रूप में मिठाई, बिस्कुट बनाकर भी खा सकते हैं।

कच्चा नारियल खाने, इसका पानी पीने से वीर्य बढ़ता है। कब्ज़ दूर होती है पढ़िए – कब्ज़ दूर करने के उपाय। नारियल खाने से पसीना कम आता है, प्यास कम लगती है। थोड़ी सी मेहनत करने में यदि थकावट हो तो नारियल खाते रहे, इसका पानी पियें। इससे पानी की कमी हाती है। पीलिया में लाभ होता हैं।

नारियल का पानी पीने के फायदे

गाय और बकरी के दूध–के समान होता है। जिन शिशुओं को माता का दूध नहीं मिलता, बहुत कम मिलता है, उन्हें नारियल का पानी पिलाये । नारियल का पानी पीने से दर्दों, पेट दर्द, हिचकी में भी लाभ होता है।

अनिद्रा –

सोते समय नारियल का पानी पीने से नींद गहरी आती है, उठने पर शरीर ताज़गी और स्फूर्ति मिलती हे।

गर्भावस्था –

गर्भावस्था  में उल्टी होना, मिट्टी, चाक खाना और कैल्शियम की कमी होती है। नारियल का पानी पीने से ये सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। गर्भस्थ शिशु का पोषण अच्छा होता है।

पढ़िए – छुहारा के फायदे

पेशाब की जलन –

एक नारियल के पानी में चार चम्मच हरे धनिये की चटनी मिलाकर पीने से लाभ होता है। चेहरे पर पड़ी झुर्रियाँ, दाग, धब्बे, चेचक के दाग, काले धब्बों पर नित्य दो बार नारियल का पानी लगायें।

पेशाब रूकना –

गर्मी  के प्रभाव से पेशाब बन्द हो जाये तो नारियल का पानी पलायें। बन्द पेशाब आने लगेगा। नारियल का पानी गुर्दों को ताकत देता है, मूत्राशय (ब्लेडर) की कार्यक्षमता बढ़ा देता है, पेशाब अधिक लाता है। पढ़िए – गुर्दे में पथरी का इलाज

गुर्दे के रोगों में नारियल का पानी पियें। नारियल का पानी स्नायुमण्डल का रक्षा कवच है। इसके पानी में शरीर की दैनिक आवश्यकता के बराबर विटामिन ‘सी होता है। पथरी होने पर पके नारियल का पानी पियें। यह पेशाब अधिक लाता है।

नारियल के पानी में संक्रमण (इंफेक्शन) नाशक गुण होते हैं। नारियल शरीर में ओक्सीटेटासाइक्लिन एम्टीबायोटिक का निर्माण करता हैं, पेशाब अधिक लाता है। इससे बुखार, ज्वर, रक्तचाप पर नियन्त्रण हो जाता है।

दष्प्रभाव –

नारियल का पानी बीडी, सिगरेट, दारू कैसे छुड़ाएं, सल्फा ड्रग्स और अन्य एंटी -बॉडीज के दुष्प्रभावों को दूर करता है। है

शक्तिवर्धक पेय –

नारियल के पानी में कार्बोहाइड्रेट, फ्रक्टोज, ग्लूकोज, अमीनो, अम्ल, वसा, पोटेशियम, कैल्शियम होते हैं। इनके कारण यह अच्छा शक्तिवर्धक पेय है|

कृमि-

प्रातः भूखे पेट कच्चा नारियल खाने और उसका पानी पीने से पेट के कीड़े निकल जाते हैं। पका हुआ सूखा नारियल खाने से भी कृमि निकल जाते हैं। कोलाइटिस, बवासीर, मधुमेह का उपचार, गेस्ट्रिक और पेप्टिक अल्सर में कच्चे नारियल की गिरी खाये।

अम्लपित्त –

इसमें नारियल का पानी पीन से लाभ होता है। पेट से कण्ठों तक होने वाली जलन में लाभ होता है।

मालिश –

बच्चों के नारियल के तेल की मालिश लाभदायक है।

योनिशोथ (Vaginitis) –

योनि में सजन होने पर जलन , दर्द होता है। दो चम्मच के तेल में चौथाई चम्मच पीसी हुई, मैदा की चलनी में छनि हुई हल्दी मिलकर योनि में नित्य दो बार लगायें | शीघ्र लाभ होगा |

पढ़िए – मटर के फायदे

सोरायसिस –

सोरायसिस वाले स्थान पर नारियल का तेल मलें।

नारियल तेल के फायदे

इसमें चिकनाई बहुत होती है। इससे आँतों को जितनी चिकनाई मिलती है उतनी अन्य किसी तेल से नहीं मिलती। बालों में इसे लगायें और अच्छी मालिश करें।

कब्ज –

नारियल कब्ज दूर करता है। नारियल की गिरी में रेशे और चिकनाई बहुत होती है। नारियल खाने से मल सरलता से बाहर आ जाता है, जोर नहीं लगाना पड़ता। बहुत अधिक कब्ज होने पर रात को एक चम्मच नारियल का तेल पियें। |