कोलेस्ट्रॉल के कारण, लक्षण, एवं उपचार

हार्ट अटैक का मुख्य कारण हाई कोलेस्ट्रॉल माना जाता है | कोलेस्ट्रॉल के ऊपर इंटरनेट पे ढेरों जानकारी उपलब्ध है | मगर कुछ ऐसी जानकारी है जिसके बारें में हम आपको इस आर्टिकल में बताएंगे |

कोलेस्ट्रॉल क्या है ?

कोलेस्ट्रॉल लिवर से उत्पन्न होता है | ये एक तरह का वासा या मोम जैसा पदार्थ होता है | कोलेस्ट्रॉल मुख्य रूप से दो प्रकार का होता है बेड कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) एवं गुड कोलेस्ट्रॉल (एचडीएल) |

बेड कोलेस्ट्रॉल गाढ़ा होता है जिसकी वजह से खून के प्रवाह में रुकावट आती है | बाद कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना ब्लड प्रेशर, हार्ट अटैक, मोटापा जैसी बीमारियाँ उत्पन्न करता है |

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के मुख्य कारण ?

व्यायाम में कमी – फैट को बर्न करने के लिए व्यायाम अति आवश्यक है | कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना उन लोगों में अधिक देखा गया है जो नित्ये व्यायाम नहीं करते |

तला भोजन – जो लोग बाहर का तला भोजन और जंक फ़ूड ज्यादा खाते है उनमे बेड कोलेस्ट्रॉल से होने वाले हार्ट की सम्भावना अधिक देखि गयी है |

तनाव – आज की इस भाग दौड़ भरी ज़िन्दगी में जहाँ पैसा कमाना बुहत मुश्किल है ऐसी स्तिथि में व्यक्ति तनाव ग्रस्त रहता है | और तनाव एक ऐसी चीज़ है जो कई तरह की बीमारियों का कारण है जैसे की डिप्रेशन, कब्ज़, हार्ट अटैक आदि

शराब बीड़ी का सेवन – शराब बीड़ी का अधिक सेवन भी बेड कोलेस्ट्रॉल का मुख्य कारण है | अगर आप अधिक शराब का सेवन करते है तथा शराब छोड़ना चाहते है तो इसे पढ़े |

कोलेस्ट्रॉल के लक्षण :- 

साँस फूलना – यदि आप भी इस समस्या से गुज़र रहे है तो सावधान हो जाइए कहीं आप भी बेड कोलेस्ट्रॉल का शिकार तो नहीं हो रहें | अत्यधिक व्यायाम से साँस फूलना एक सामान्य समस्या है अपितु थोड़े व्यायाम से या थोड़ी सेर करने से ही यदि आपकी साँस पहले तो ये बेड कोलेस्ट्रॉल के लक्षण है |

सीने में दर्द – सीने में दर्द इसका एक मुख्य लक्षण है हार्ट सम्बन्धी समस्या होने पर सीने में दर्द की शिकायत रहती है | कभी कबार सीने में दर्द एसिडिटी की वजह से भी हो सकती है इसका ये मतलब नहीं के आपको हार्ट की समस्या हो गई है | इसलिए लक्षणों को ध्यान से अवलोकन कीजिए और ज़रूरत पड़ने पर चिकित्सक की सलाह अवश्य लें |

मोटापा – यदि आप मोटापे से ग्रस्त है तो सावधान हो जाइए कहीं ये बेड कोलेस्ट्रॉल का संकेत तो नहीं |

कोलेस्ट्रॉल के घरेलु उपचार –

लहसुन – दूध में लहसुन मिलाकर दूध उबाल लें तथा निवाया होने पे इसका सेवन करें | ये उपचार बेड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में कारगर है | लहसुन का दूध हार्ट को छानने का काम करता है एवं हार्ट को तंदरुस्त बनाता है |

पिस्ता – पिस्ते में कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने वाला तत्व ‘फायटोस्टेरॉल्स’ सबसे अधिक होता है | इसमें बिना नमक वाला पिस्ता ही लाभ करता है |