किशमिश को पानी में भिगोकर खाने के फायदे

kishmish-ko-khane-ke-fayde-in-hindi

किशमिश खाने के फायदा –

किशमिश सूखे हुए अंगूर का दूसरा रूप है। इसमें अगूर के सारे गुण विद्यमान होते हैं। किशमिश लाल और काली दो तरह की होती है। किशमिश हल्की, सुपाच्य, खाँसी, जुकाम और पीलिया दूर करती है | इसमें दूध के सभी तत्त्व मौजूद होते है | दूध के अभाव में इसका उपयोग किया जा सकता है | यह दूध से जल्दी पचती है।

25 ग्राम किशमिश मे॑ लगभग 78 कैलोरीज और 0.83 ग्राम प्रोटीन होता है | ये एन्टीऑक्सिडेंट होते है | मस्तिष्क को सबसे ज्यादा ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। इसकी कमी से वह किसी भी तरह की हानि का शिकार हो सकता है। किशमिश दिमाग को बचाए रखती है।

बच्चों के नाश्ते में किशमिश को शामिल करें। उन्हें रात को भिगोकर सुबह भी खाने को दे सकते हैं। किशमिश पौष्टिक, रोगनाशक भोजन है।

पागलपन –

हरी किशमिश के 40 दाने धोकर सौ ग्राम गुलाब अर्क में रात भर भिगोये रखें। प्रात: किशमिश निकाल कर खा लें और ऊपर से गुलाब के अर्क में स्वादनुसार चीनी मिलाकर पिसें। 21 दिन लेने से पागलपन दूर होता है।

हृदय शक्तिवर्धक –

30 किशमिश धोकर मिट्टी के सिकोरे में एक कप पानी में डाल दें। इसमें चने की दाल के बराबर केसर डाल दें। रात को इन सबको भिगो दें। पतले कपड़े से सिकोरे का मुँह बाँधकर खुले स्थान पर रख दें। सुबह पानी छानकर किशमिश खाकर यह पानी पियें। इस तरह दस दिन सेवन करें। हृदय को बहुत शक्ति मिलेगी।