सिर की रुसी व सिकरी का इलाज

नारियल का तेल 100 ग्राम, कपूर 5 ग्राम दोनों को मिलाकर शीशी में रख लें | दिन में दो बार स्नान के बाद केश सूख जाने और रात में सोने से पहले सिर पर खूब मालिश करें | दूसरे ही दिन से रुसी (सफ़ेद पतली भूसी की तरह) में लाभ प्रतीत होगा |
विशेष :-

तोला एक कपूर लें, पाव नारियल तेल |

शीशी में रख लीजिए, कर दोनों का मेल ||

त्रिफला से सिर धोय के, तेल लगाये जोय |

केश बढ़े अरु नर्म हो, सिर में ठंडक होय |

इस तेल के प्रयोग से बालों में जूं पैदा नहीं होती | त्रिफला-जल बनाने और उससे सिर धोने की विधि और उससे सिर धोने की विधि के लिए ‘ स्वदेशी चिकित्सा के चमत्कार’ पृष्ठ ३ देखें |

विकल्प – बाल धोने से आधा घंटा पहले एक निम्बू काटकर मलने से नींबू का रस मलने से और फिर हलके गरम पानी से धोने से सिर की रुसी साफ हो जाती है और रूखे – सुखे बाल चमकदार व सेट हो जाते है अथवा दो किलो पानी में दो नीम्बुओं का रस निचोड़कर एक सप्ताह तक प्रतिदिन बालों को अच्छी प्रकार धोये तो जुएँ न रहेंगी | बाल चमक उठेंगे | रुसी दूर हो जायेगी |

नारियल के तेल में आधा नींबू का रस तथा जरा से कपूर मिला लें | रात में तेल बालों की जड़ो में लगाकर हल्की हल्की मालिश करें और प्रातः स्नान कर कंघी करे | रुसी समाप्त होने के साथ-साथ जूं भी नहीं रहेगी |

रेथे का शैम्पू रुसी में उतना ही कारगर है जितना कोई आधुनिक फार्मूले का शैम्पू | बाल टूटने पर बालों को साबुन से न धोकर रीठे से धोना चाहिए | बाल टूटते है तो हर चौथे रोज सिर धोइए |

रीठे के शैम्पू की विधि – रात में रीठे के छिलके के छोटे – छोटे टुकड़े करके पानी में भिगो दें | (अनुपात – एक हिस्सा रीठा का छिलका, चालीस हिस्सा पानी) | सुबह उस पानी को मसलकर अथवा उबालकर उससे सिर धोने से बाल लम्बे और घने होते है | इसके लिए बालों से पहले थोड़ा गुनगुना पानी डालकर धोइए | उसके बाद रीठे के पानी के घोल की आधी मात्रा सिर पर डालकर बालों को पाँच दस मिनट तक मलिए | अब इसे धो डालिए | फिर आधा बचा हुआ शैम्पू पहले की तरह डालकर मलिए , अच्छी तरह मलने के बाद धो डालिए |