उलटी आने पे क्या करना चाहिए?

उलटी का घरेलु उपचार:-

पुदीना – उलटी में आधा कप पुदीने का रस हर दो घंटे में पिलायें| इसमें निम्बू भी मिला सकते है|

धनिया – धनिया उबाल कर मिश्री मिलकर पीने से लाभ होता है | हरा धनिया कूट कर, निचोड़ कर इसका 33 ग्राम रस पिलाने से उलटी रुक जाती है |

हरड़ – हरड़ को पीसकर शहद में मिलाकर चाटने से उलटी बंद हो जाती है |

पढ़े :- दस्त के लक्षण, कारण एवं घरेलु उपाय

जीरा – चार नीबुओं का रस, सेंधा नमक, जीरा डालकर भीगता रहने दे| भीगते भीगते जब नीबू का रस सुख जायें और सूखा जीरा ही बच जाएं तब उसे निकल कर शीशी में भरे | नित्ये तीन बार इसका आधा आधा चम्मच ले | इससे  गर्भावस्ता की उलटी रुकेगी|

अदरक – उलटी रोकने में अदरक बुहत गुणकारी है | अदरक का रस चम्मच लेकर जरा-सा सेंधा नमक व  कालीमिर्च बुरक ले चाट लें| आवश्यकता पड़े तो घंटे भर बाद खुराक और ले लें| अदरक का रस + प्याज़ का रस + पानी प्रत्येक एक-एक चम्मच मिलकर पीने से उलटी बंद हो जाती है |

प्याज़ – अदरक और प्याज़ का रस दो चम्मच पिलाने से उलटी बंद हो जाती है

शहद – प्याज़ के रस में शहद मिलकर चाटने से उलटी बंद हो जाती है

तुलसी – तुलसी की पतियों का रस पीने से उलटी बंद हो जाती है| शहद और तुलसी की पतियों का रस मिलकर चाटने से भी उलटी, जी मिचलाना ठीक हो जाता है |

नीम – नीम के पत्ते पीसकर पानी में छान कर पीने से सभी प्रकार की उल्टियाँ ठीक हो जाती हैं

तरबूज – खाने के बाद कलेजा जले, फिर पिली-पिली उलटी हो तो प्रातः तरबूज के रस में मिश्री मिलाकर पियें|

नीबू – जी मचलाना आरम्भ होते ही नीबू का सेवन करना चाहिए हैं| इससे उलटी नहीं होती| नीबू में शक्कर और काली मिर्च मिर्च दोनों भरकर चूसने से भी उलटी बंद होती है| ठण्डे पानी में नीबू और शक्कर मिलाने से निम्बू का शर्बत बन जाता है | यह मिचली और उलटी ठीक करता है | नीबू के रस की कुछ बुँदे पानी में मिलाकर पिलायें, शिशु दुःख नहीं उलटेगा | पुदीना और नीबू दोनों एक साथ सेवन करने से भी उलटी बंद हो जाती है | नीबू में इलायची भर क्र चूसने से भी लाभ होता है| उलटी में नीबू को गरम नहीं करना चाहिए|

पढ़े – सफ़ेद बाल को काले करने के घरेलु उपाय

चना – रात को चने भिगो दें| प्रातः इनका जल निकालकर पियें | गर्भवती को उलटी हो तो भुने हुए चने का सत्तू पिलायें|

पिस्ता – चार पिस्ता खाने से उलटी, जी मिचलाना ठीक हो जाता है|

इमली – पकी इमली को पानी में भिगोकर रस पीने से उलटी ठीक हो जाती है|

केला – पका हुआ केला खाने से रक्त की उलटी होना बंद हो जाता है|

गन्ने – पित्त की उलटी होने पर गन्ने के रस में शहद मिलाकर पिलाने से लाभ होता है |

दालचीनी – पित्त की उलटी हो तो दालचीनी पीस कर शहद में मिलाकर लें|

बर्फ – बार-बार उलटी होने पर बर्फ चूसने से उलटी बंद हो जाती है|